ALL मध्यप्रदेश देश राजनीति धर्म मनोरंजन खेल व्यापार
भाजपा के उपेक्षितों पर दांव लगाएगी कांग्रेस
April 29, 2020 • ajay dwivedi • राजनीति

उपचुनाव में नाथ का मास्टर प्लान, टारगेट-18 से देंगे मात
प्रदेश में सत्ता वापसी के लिए पार्टी ने शुरू की कवायद

भोपाल। अपनी सत्ता खोने से आहत पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, भाजपा से इसका बदला आने वाले दिनों में मध्यप्रदेश की 24 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनावों में लेना चाहते हैं। इसके लिए टीम कमलनाथ ने मास्टर प्लान टारगेट-2018 बनाया है। अगर कमलनाथ की रणनीति में सफल हुई तो उपचुनाव में भाजपा को तगड़ा झटका लग सकता है। जिन सीटों पर चुनाव होना है कांग्रेस उन क्षेत्रों के ऐसे दमदार भाजपा नेताओं से संपर्क कर रही है, जो भाजपा में उपेक्षित अनुभव कर रहे हैं या फिर 2018 में कांग्रेस उम्मीदवार से हार गए थे। कांग्रेस के अंदरूनी सूत्रों की मानें, तो कांग्रेस उपचुनाव में भाजपा को तगड़ी शिकस्त देने की ठान चुकी है। उसने भाजपा के उन नेताओं में तोड़ने का मन बना लिया है जिनको दावेदार होने के बाद भाजपा उपचुनाव में टिकट नहीं देगी। हालांकि वह 2018 के विधानसभा चुनाव में इन्हीं नेताओं से फाइट ले चुके हैं। अब यही नेता भाजपा में गए हैं। कांग्रेस नेता उपचुनाव वालीं सीटों पर कई भाजपा नेताओं से संपर्क कर रहे हैं। इनमें कुछ नेता ऐसे भी हैं जो समय आने पर भाजपा से बगावत कर कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं, तो कुछ ऐसे भी हैं जो भाजपा में ही रहकर कांग्रेस को लाभ देंगे।
यह है टारगेट-18 प्लान
सूत्रों की मानें तो कांग्रेस ने मुरैना से भाजपा नेता रुस्तम सिंह और बसपा के उम्मीदवार रहे पूर्व विधायक बलवीर सिंह दंडोतिया से संपर्क किया है। सुमावली सीट पर भी दो नेताओं से भी कांग्रेस की बात चल रही है। इसमें वर्ष 2018 का चुनाव भाजपा से पराजित हुए अजय सिंह कुशवाह और बहुजन समाज पार्टी से चुनाव हारे महेंद्र सिंह शामिल हैं। दिमनी से शिवमंगल सिंह तोमर, अम्बाह से गब्बर सखवार और बसपा से पूर्व विधायक रहे सत्य प्रकाश सखवार से कांग्रेस संपर्क कर रही है। ग्वालियर पूर्व में सतीश सिंह सिकरवार, करैरा से राजकुमार खटीक, पौहरी से प्रहलाद भारती, अशोक नगर में लड्डूराम कोरी, मुंगावली डॉक्टर केपी सिंह, हाट पिपल्या से दीपक जोशी, सांवेर से राजेश सोनकर और सावन सोनकर, सुरखी से पारुल साहू को कांग्रेस अपनी खींचने के प्रयासों में लग गई है। इन सब से संपर्क कर अपनी पार्टी में शामिल करने का प्रयास किया जा रहा है। यदि ये नेता कांग्रेस में शामिल होते है, तो इन्हें टिकट दिया जा सकता है।
नेहा किन्नर पर भी नजर
सूत्र बताते हैं कि कांग्रेस की नजर किन्नर नेहा पर भी है। दरअसल पिछले विधानसभा चुनाव में नेहा दूसरे नंबर पर रहीं थी। बता दें, नेहा किन्नर अम्बाह सीट पर खासी लोकप्रिय हैं। उन्हें भाजपा उम्मीदवार गब्बर सखवार से ज्यादा वोट मिले थे और वे दूसरे नंबर पर आईं थी।