ALL मध्यप्रदेश देश राजनीति धर्म मनोरंजन खेल व्यापार
दुकान खाली कराने का दुकान मालिक ने ढूढ़ा नायब तरीका 
March 3, 2020 • ajay dwivedi • मध्यप्रदेश

छत तोड़कर भरा पानी, 35 लाख की किताबे भीगीं, कोतवाली में की शिकायत 

khemraj mourya
शिवपुरी। 46 वर्षो से कीर्ति स्तम्भ चौराहे के  पास संचालित अशोक स्टेशनरी की दुकान खाली कराने के लिए दुकान मालिक ने शनिवार की रात दुकान की छत तोड़ दी और उसमें पानी भर दिया। जिससे दुकान में रखी 35 लाख रूपए की किताबे खराब हो गईं। यह आरोप अशोक स्टेशनरी के संचालक सत्यपाल जैन ने पुलिस को दिए एक शिकायती आवेदन में लगाए हैं। पुलिस ने आवेदन लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। 

पीडि़त दुकानदार सत्यपाल जैन ने अपने शिकायती पत्र में उल्लेख किया है कि 1974 से वह कांग्रेस नेता प्रधुम्र वर्मा की दुकान में किराएदार हैं। जिन्हें हटाने के लिए दुकान मालिक पिछले लंबे समय से दुकान खाली करने की बात कह रहा है। जबकि वह 1974 से लेकर अब तक प्रतिमाह मकान मालिक को किराया देते रहे हैं। शुरू में यह किराया 90 रूपए था। जिसे बढ़ाकर दुकान मालिक ने साढ़े 6 हजार रूपए से अधिक कर दिया है। लेकिन इसके बाद भी वह दुकान खाली करने के लिए दबाव बना रहे हंै और वह दुकान खाली करने के लिए तैयार भी थे और बातचीत चल रही थी। लेकिन बातचीत से पहले ही दुकान मालिक ने दुकान की छत को फोड़कर उसमें पानी भर दिया। जिससे छत का पानी नीचे दुकान में आ गया और उससे दुकान में रखी लगभग 35 लाख रूपए की किताबे खराब हो गईं। 
बारिश के कारण भरा पानी, आरोप झूठे : प्रधुम्र वर्मा 
मकान मालिक कांग्रेस नेता प्रधुम्र वर्मा ने अशोक स्टेशनरी के संचालक द्वारा लगाए गए आरोपों को झूठा बताया है। उनका कहना है कि उनका मकान जर्जर हालत में है और अभी हाल ही में बारिश के कारण छत में पानी भर गया होगा। जिससे छत से टपक कर वह दुकान में भर गया। चूंकि दुकान खाली कराने के लिए हमारे द्वारा कहा गया था। लेकिन वह दुकान खाली नहीं कर रहे हैं और इसलिए यह मनगढ़ंत कहानी रचकर दबाव बनाने का प्रयास किया जा रहा है। 2 वर्ष पूर्व बारिश के कारण अशोक स्टेशनरी दुकान की दीवार भी ढह गई थी। उस समय मैंने ही उक्त दीवार का पुन: निर्माण कराया था। इसलिए इन आरोपों में कोई सत्यता नहीं है।