ALL मध्यप्रदेश देश राजनीति धर्म मनोरंजन खेल व्यापार
एक लाख रुपए रिश्वत मांगने के आरोप में खनियांधाना थाने के एएसआई और आरक्षक निलंबित
April 4, 2020 • ajay dwivedi • मध्यप्रदेश

बातचीत का ऑडियो वायरल होने पर एसपी ने कार्रवाई कर एसडीओपी पिछोर को जांच सौंपी

khemraj mourya
शिवपुरी। खनियांधाना क्षेत्र के माताटीला डैम पर किसानों की मोटर ठेकेदार के लोग उठाकर ले जा रहे थे। ग्रामीणों ने मोटर ले जाते हुए पकड़ लिया और थाने ले आए। लेकिन यहां मोटर ले जाने वाले को फरियादी बना दिया और किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। मोबाइल पर बातचीत की थाने के एएसआई व आरक्षक की ऑडियो सामने आई है। जिसमें एक लाख रुपए की रिश्वत मांगने के आरोप लगाए हैं। एसपी राजेश सिंह चंदेल ने एएसआई व आरक्षक को निलंबित कर जांच पिछोर एसडीओपी को सौंप दी है।
माताटीला डैम के ठेकेदार के लोग 1 अप्रैल की शाम किसानों की खेत में पानी देने वाली मोटर उठाकर ले जा रहे थे। किसानों ने मोटर ले जाते हुए ठेकेदार के लोगों को पकड़ लिया और थाने ले आए। लेकिन यहां उल्टा चार-पांच किसानों पर मुकदमा दर्ज कर लिया। मामले में सहयोग करने आए गजराज सिंह लोधी ने एएसआई जगदीश प्रसाद पाराशर और आरक्षक जितेंद्र ठाकुर से फोन पर बात की। जगदीश प्रसाद ने एक लाख की मांगी की। गजराज सिंह ने दस हजार देने की बात कही। गजराजसिंह ने आरोप लगाया कि एक लाख रुपए का सौदा नहीं हुआ तो एएसआई घर पर आए और गाली गलौंज की। गजराज सिंह ने आरोप लगाया है कि एएसआई पाराशर ने कहा कि तुम्हारे ऊपर भी मुकदमा दर्ज हो गया है। अब जमानत की तैयारी कर लो। रिश्वत मांगने वाले मामले को लेकर एएसआई जगदीश कुशवाह से उनके मोबाइल नंबर 9981613885 पर संपर्क किया तो फोन स्विच ऑफ आता रहा। वहीं खनियांधाना टीआई सुधीर कुशवाह ने भी फोन रिसीव नहीं किया।