ALL मध्यप्रदेश देश राजनीति धर्म मनोरंजन खेल व्यापार
कमलनाथ सरकार अल्पमत में, पहले कराएं फ्लोर टेस्ट: भाजपा
March 14, 2020 • ajay dwivedi • राजनीति

सियासी उठापटक के बीच भाजपा नेताओं ने की राज्यपाल से मुलाकात

भोपाल, प्रदेश में जारी सियासी उठापटक के बीच शनिवार को भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात कर 16 मार्च से शुरू हो रहे बजट सत्र से पहले मौजूदा सरकार क ो फ्लोर टेस्ट देने की मांग की है। भाजपा नेताओं का कहना है कि राज्यपाल के अभिभाषण और बजट सत्र से पहले ही कमलनाथ सरकार का फ्लोर टेस्ट होना चाहिए। बता दें कि राज्य विधानसभा का बजट सत्र सोमवार से शुरू होना है।

बता दें कि राजभवन में राज्यपाल से मिलने वालों में पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, भाजपा के मुख्य सचेतक डॉ. नरोत्तम मिश्रा, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह तथा पार्टी के विधायक रामपाल सिंह आदि मौजूद रहे। राज्यपाल से मुलाकात करने के बाद मीडिया से चर्चा में शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह सरकार अल्पमत में है और इसे फैसले लेने का अधिकार नहीं है। चौहान ने कहा कि सरकार विश्वास मत प्राप्त न करने के लिए साजिश कर रही है। राज्य में अराजकता का माहौल है। सरकार मामले को लंबा खींचना चाहती है। राज्य में बहुमत प्राप्त सरकार का होना आवश्यक है। 

राज्यपाल से भाजपा की मांग 
 राज्यपाल को सौंपे गए पत्र में भाजपा ने यह मांग की है कि सत्र शुरू होने से पहले वे सरकार का बहुमत परीक्षण कराएं। देर होने की स्थिति में हॉर्स ट्रेडिंग का खतरा बढ़ेगा। मौजूदा सरकार निर्णय में देर कराकर लोकतंत्र का गला घोंटने का प्रयास कर रही है। विधायकों को प्रलोभन दिया जा रहा है। अल्पमत की सरकार को निर्णय लेने का अधिकार नहीं। ऐसे में राज्यपाल महोदय इसे तत्काल हस्तक्षेप करके इसे रोके और स्वस्थ लोकतंत्र स्थापित हो सके। 

पहले फ्लोर टेस्ट होना चाहिए : नेता प्रतिपक्ष 
राज्यपाल से मुलाकात के बाद भार्गव ने कहा कि नैतिकता का यही तकाजा है कि पहले फ्लोर टेस्ट होना चाहिए। राज्य में संवैधानिक संकट खड़ा करने का प्रयास किया जा रहा है। भार्गव ने सभी विधायकों को सुरक्षा प्रदान करने की मांग भी की है। भार्गव ने कहा कि एक अल्पमत की सरकार राज्यपाल का अभिभाषण कैसे करवा सकती है? 

सरकार अल्पमत में, पहले हो फ्लोर टेस्ट : नरोत्तम 
 पूर्व संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सरकार स्पस्ट रूप से अल्पमत में हैं। ऐसे में सबसे पहले फ्लोरटेस्ट होना चाहिए। इस सरकार को विधिसम्मत अब किसी प्रकार का निर्णय लेने का अधिकार नहीं है। 

हर स्थिति से निपटने को तैयार : डॉ. गोविंद सिंह 
संसदीय कार्यमंत्री डॉ. गोविंद सिंह का कहना है कि उनकी सरकार हर स्थिति से निपटने को तैयार है। यह स्थिति सब भाजपा का किया कराया है, लेकिन भाजपा अपने प्रयासों में पूरी तरह फेल हो जाएगी। उसका कोई मंसूबा सफल नहीं होगा। सिंह ने भाजपा को इसके लिए जमकर कोसा । 

सोलंकी और कौरव ने की राज्यपाल से मुलाकात
 सूत्रों के अनुसार हरियाणा के पूर्व राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी और राज्य के पूर्व महाधिवक्ता पुरुषेंद्र कौरव ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल से मुलाकात की है। इस मुलाकात से सियासी गलियारों में काफी चर्चाएं तेज हो गई हैं। माना जा रहा है कि संवैधानिक और मौजूदा राजनीतिक हालातों पर ही चर्चा हुई है। क्या चर्चा हुई ,यह खुलासा तो नहीं हुआ, लेकिन माना जा रहा है कि सियासी संभावनाओं को लेकर ही बात हुई है।