ALL मध्यप्रदेश देश राजनीति धर्म मनोरंजन खेल व्यापार
नोवल कोरोना वायरस संक्रमण रोकने स्थानीय परिवेश के अनुरूप करें नवाचार
March 20, 2020 • ajay dwivedi • मध्यप्रदेश

मुख्य सचिव श्री रेड्डी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस में कलेक्टरों को दिये निर्देश
ashish malviya
अशोकनगर, मुख्य सचिव श्री एम. गोपाल रेड्डी ने कहा है कि सभी जिला कलेक्टर नोवल कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिये स्थानीय परिस्थिति और परिवेश के अनुरूप उपाय तथा नवाचार करें। उन्होंने कहा कि इस चुनौती का सामना स्वयं जागरुक रहकर, व्यापक स्तर पर जागरुकता अभियान चलाकर तथा सतत निगरानी रखकर किया जा सकता है। श्री रेड्डी ने कहा कि मैदानी स्तर पर बचाव के उपायों को अपनाने के लिये जनसामान्य को प्रेरित करें। जनसामान्य की परस्पर सहमति से सामाजिक तथा धार्मिक आयोजनों में भीड़ कम रखने के प्रभावी प्रयास करें।  मुख्य सचिव श्री रेड्डी आज मंत्रालय में नोवल कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये प्रदेश में जारी गतिविधियों की मंत्रालय में वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा कर रहे थे। 
 प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्रीमती पल्लवी जैन गोविल ने बताया कि प्रदेश में नोवल कोरोना वायरस से प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों की निरंतर स्क्रीनिंग की जा रही है। संक्रमण से बचाव के उपाय तथा अद्यतन स्थिति की जानकारी के लिये 'स्टेट पोर्टल फॉर कोविद-19 मॉनीटरिंग' विकसित किया गया है। निजी चिकित्सालयों का भी सहयोग लिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनसामान्य को रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने वाले खान-पान तथा उपयोगी दवाओं का सेवन करने को प्रोत्साहित करने की सलाह दी जाना आवश्यक है। प्रमुख सचिव ने कहा ‍िक सूचना, शिक्षा तथा संचार के उपयोग से ही संक्रमण को फैलने से रोकने के प्रयासों में जनसामान्य को भागीदार बनाया जा सकता है। वीडियो कॉन्फ्रेंस में इन्दौर, पन्ना, सिवनी, बालाघाट,ग्वालियर,सागर,रतलाम, रायसेन जिलों के कलेक्टर द्वारा स्थानीय स्तर पर की जा रही गतिविधियों की जानकारी दी गई। 
वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रमुख सचिव गृह श्री एस.एन. मिश्रा, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री तथा पर्यटन श्री फैज अहमद किदवई, प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं चिकित्सा शिक्षा श्री संजय शुक्ला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
 वीडियो कॉन्फ्रेंस में सभी सभागायुक्त, जिला कलेक्टर, जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकार, आयुक्त नगर निगम, पुलिस महानिरीक्षक, उप पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक, कमॉडेन्ट होमगार्डस, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा सिविल सर्जन ने भाग लिया।