ALL मध्यप्रदेश देश राजनीति धर्म मनोरंजन खेल व्यापार
शुजालपुर में संकट प्रबंधन समिति की बैठक सम्पन्न
April 19, 2020 • ajay dwivedi • मध्यप्रदेश

लॉक डाउन का पालन कराने के लिए गलियों में एवं चौराहों पर एनाउन्समेंट कराएं-विधायक परमार

amjad khan
शाजापुर। कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए लगाए गए लॉक डाउन का पालन कराने के लिए गलियों में एवं चौराहों पर निरंतर एनाउन्समेंट कराएं। कोरोना वायरस का संकट अभी टला नहीं है, सतर्कता एवं सजगता की सख्त जरूरत है। यह बात शुजालपुर विधायक इंदरसिंह परमार ने शुजालपुर के नगरपालिका में सम्पन्न हुई संकट प्रबंधन समिति की बैठक में कही। इस मौके पर कलेक्टर डॉ वीरेंद्रसिंह रावत, पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव सहित अधिकारी मौजूद थे। विधायक परमार ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सोशल डिस्टेंस के प्रति लोगों को जागरूक करना जरूरी है। कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए जरूरी है कि अभी व्यवसायिक प्रतिष्ठान नही खोले जाएं, केवल अत्यावश्यक सामग्रियों की दुकानें ही निश्चित समय में खोलने की अनुमति दी जाना चाहिए। उन्होने कहा कि सभी लोगों में जागरूकता आए और वे बाहर से आने वालों की तत्काल जानकारी कन्ट्रोल रूम को दें। उन्होने प्रत्येक नागरिक से अनुरोध किया कि यदि उनके पड़ोस में कोई बाहर से व्यक्ति आता है तो इसकी भी सूचना दें। लॉकडाउन के कारण जिन लोगों के रोजमर्रा के काम बंद होने से दिक्कत आ रही हो उन्हे खाद्यान्न के पैकेट उपलब्ध कराने की व्यवस्था करें। बैठक में कलेक्टर डॉ रावत ने बताया कि संकट प्रबंधन समिति की बैठक लगातार हो रही है। पुलिस एवं प्रशासन लोगों की सुरक्षा के लिए सतत् काम कर रहा है। जिले के चिकित्सा विभाग में पर्याप्त मात्रा में सेनेटाईजर, मॉस्क एवं अन्य सामग्री में उपलब्ध है। सभी परिस्थितियां यदि अनुकूल रहती हैं तो राज्य शासन से निर्देश प्राप्त होने के उपरांत ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा आदि के काम सोशल डिस्टेंस के साथ प्रारंभ किए जा सकते हैं। इस मौके पर सीएमएचओ डॉ प्रकाशविष्णु फुलम्ब्रीकर ने बताया कि जिले के पांच क्षेत्र जामनेर, चाकरोद, मोचीखेड़ा और शाजापुर की पुलिस लाईन तथा शुजालपुर के वार्ड नम्बर 08 जिनकी कुल आबादी 16964 को कन्टेन्मेंट क्षेत्र घोषित किया गया है। इन क्षेत्रों में सर्वे के लिए 34 दल लगाए गए हैं। दल द्वारा 14067 लोगों का सर्वे कम्पलीट कर लिया गया है। इसके अलावा जिले में रेपिड एक्शन, एसएसटी एवं क्यूआरटी दल गठित किए गए हंै,  जो सतत कार्य कर रहे हैं। जिले के कुल 534 ग्रामों में ग्राम स्तरीय दल बनाए गए हैं जिनमें आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा, पंचायत सचिव को रखा गया है। यह दल प्रत्येक परिवार का सर्वे कर रहा है। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक श्रीवास्तव ने बताया कि बाहर से आने वालों की जिले की सीमाओं पर जांच की जा रही है। बिना जांच के कोई भी व्यक्ति जिले में प्रवेश नही कर रहा है।